UP Kanya Sumangala Yojana October : बेटियों को मिलेंगे 15-15 हजार

0
11

UP Kanya Sumangala Yojana : बेटियों को मिलेंगे 15-15 हजार

UP Kanya Sumangala Yojana Update : उत्तर प्रदेश ( Uttar Pradesh ) के लोगों की मदद के लिए कई योजनाएं सरकार द्वारा शुरू की गई हैं। इन्हीं में से एक है यूपी कन्या सुमंगला योजना ( Uttar Pradesh Kanya Sumangala Yojana ) , जो राज्य की बेटियों के लिए शुरू की गई है। बताया जा रहा है कि योगी सरकार 15 दिसंबर तक 2 लाख बेटियों को इस योजना से जोड़ेगी, ताकि ज्यादा से ज्यादा लड़कियों को इस योजना का लाभ मिल सके ।

UP Kanya Sumangala Yojana October Update

उत्तर प्रदेश ( Uttar Pradesh )  सरकार द्वारा दी गयी जानकारी के मुताबिक, ‘मिशन शक्ति अभियान’ के तहत यूपी कन्या सुमंगला योजना ( Uttar Pradesh Kanya Sumangala Yojana ) में 2 लाख बेटियों को जोड़ा जाएगा । इसके लिए शुरुआत भी की जा चुकी है। अब तक लगभग 10.01 लाख बेटियां ‘कन्या सुमंगला योजना’ का लाभ उठा चुकी हैं।

सितंबर में ही कर ली थी प्लानिंग

बताया जा रहा है कि उत्तर प्रदेश ( Uttar Pradesh )  सरकार ने सितंबर में ही दो लाख बेटियों को जोड़ने की योजना बनाई थी. इसके लिए जिला स्तर पर तेजी से काम किया जा रहा है । यूपी कन्या सुमंगला योजना ( Uttar Pradesh Kanya Sumangala Yojana ) के तहत करीब 1.55 लाख बेटियों को इस योजना में शामिल किया गया है।

जानिए क्या है Uttar Pradesh Kanya Sumangala Yojana

यूपी कन्या सुमंगला योजना ( Uttar Pradesh Kanya Sumangala Yojana ) के तहत लाभार्थियों को जन्म के समय से चरणबद्ध तरीके से 15,000 रुपये दिए जाते हैं। जन्म के समय और पहले टीकाकरण पर क्रमशः 2,000 रुपये और 1,000 रुपये की राशि दी जाती है। इसके बाद उत्तर प्रदेश ( Uttar Pradesh )  सरकार द्वारा कक्षा 1 से 6 में प्रवेश के समय सभी को 2,000 रुपये दिए जाते हैं। 3,000 रुपये की पांचवीं किस्त बेटी को कक्षा 9 में दाखिला लेने पर दी जाती है, जबकि 5,000 रुपये की अंतिम किस्त लड़की के प्रवेश लेने पर दी जाती है। कक्षा 12 में प्रवेश, स्नातक या डिप्लोमा पाठ्यक्रम।

UP Kanya Sumangala Yojana में क्रमवार मिलेगा लाभ

  • सबसे पहले उत्तर प्रदेश ( Uttar Pradesh ) सरकार द्वारा बालिका के जन्म के समय एक हजार रुपये दिए जाएंगे।
  • बेटी के टीकाकरण के समय रु. 1 हजार दिया जाएगा।
  • बालिका के प्रथम श्रेणी में प्रवेश के समय 2 हजार रुपये दिये जायेंगे।
  • बेटी के छठी कक्षा में प्रवेश के समय 2 हजार रुपए दिए जाएंगे।
  • यूपी कन्या सुमंगला योजना ( Uttar Pradesh Kanya Sumangala Yojana ) के अंतर्गत कक्षा IX में प्रवेश के समय रु. 3 हजार दिए जाएंगे।
  • 10वीं और 12वीं की परीक्षा पास करने के बाद ग्रेजुएशन या दो वर्षीय डिप्लोमा कोर्स में प्रवेश लेने के लिए 5 हजार रुपये दिए जाएंगे.

पैसा सीधे बैंक हस्तांतरण द्वारा जमा किया जाता है

वर्ष 2019-20 के बजट में उत्तर प्रदेश ( Uttar Pradesh ) सरकार ने कन्या सुमंगला योजना के लिए 12 सौ करोड़ रुपये जारी किए थे. यह योजना बेटियों के लिए सुरक्षा कवच का काम करेगी। यह उन्हें शिक्षा के प्रति प्रेरित करने में मदद करेगा। इस यूपी कन्या सुमंगला योजना ( Uttar Pradesh Kanya Sumangala Yojana ) के तहत लाभार्थियों के खाते में डायरेक्ट बैंक ट्रांसफर (डीबीटी) के माध्यम से पैसा जमा किया जाता है।

UP Kanya Sumangala Yojana का लाभ किसे मिल सकता है

  1. परिवार की वार्षिक आय अधिकतम तीन लाख रुपये तक होनी चाहिए।
  2. उत्तर प्रदेश का मूल निवासी होना चाहिए। साथ ही स्थायी निवास प्रमाण पत्र होना चाहिए।
  3. इस योजना का लाभ एक परिवार की अधिकतम दो बेटियों को मिलेगा।
  4. इसके अलावा अगर उत्तर प्रदेश ( Uttar Pradesh )  की किसी महिला की जुड़वां लड़कियां हैं और उसके बाद तीसरी संतान भी एक बेटी है तो तीसरी बेटी भी इस योजना के लिए पात्र मानी जाएगी।

Mukhya Mantri Kanya Sumangla Yojana पात्रता

योजना के लिए आवेदक यूपी स्थाई निवासी होना चाहिए.

बता दें कि योजना का लाभ एक परिवार की दो लड़कियां ही उठा सकती हैं.

योजना में आवेदन करने वाली कन्या के परिवार की कुल आय 3 लाख या इससे अधिक नहीं होनी चाहिए.

वहीं अगर परिवार में जुड़वां बेटियां हुई हो तो उन्हें इस योजना का लाभ मिलेगा.

इसके अलावा अगर परिवार अनाथ बच्चियों को गोद लेता है तो उसे भी इस योजना का लाभ दिया जाएगा.

साथ ही उस परिवार की दो और लड़कियों भी कन्या योजना का लाभ ले सकते है.

Uttar Pradesh Kanya Sumangala Yojana Apply Online

योजना का लाभ लेने के लिए आप जन सुविधा केंद्र/सीएससी केंद्र पर जाकर आवेदन कर सकते हैं। इसके साथ ही आप यूपी कन्या सुमंगला योजना ( Uttar Pradesh Kanya Sumangala Yojana ) की आधिकारिक वेबसाइट www.mksy.up.gov.in पर जाकर भी ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं। इसके अलावा प्रखंड विकास पदाधिकारी, एसडीएम, जिला परिवीक्षा अधिकारी, उप मुख्य परिवीक्षा अधिकारी फार्म भरकर कार्यालय में जमा करा सकते हैं । योजना का संचालन उत्तर प्रदेश ( Uttar Pradesh ) सरकार द्वारा किया जाता है ।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here