आयुष्मान भारत योजना का फायदा कैसे उठा सकते हैं आप?

1
572

आयुष्मान भारत योजना का फायदा कैसे उठा सकते हैं आप?

गरीबों को इलाज का खर्च उठाने में किसी तरह की दिक्कत न आए इसके लिए केंद्र सरकार ने आयुष्मान योजना (Ayushman Bharat Yojana) शुरू की थी. जिसके तहत पंजीकृत लाभार्थियों को 5 लाख तक की आर्थिक मदद मिलती है. इसके लिए उन्हें आयुष्मान कार्ड बनवाना पड़ता है. इस कार्ड को बनवाने के लिए पहले 30 रुपए का शुल्क देना होता था. मगर कोरोना काल में मोदी सरकार ने लोगों को इस सिलसिले में बड़ी राहत दी है. अब कोई भी व्यक्ति आयुष्मान भारत कार्ड बिल्कुल मुफ्त में बनवा सकता है और इलाज के लिए आर्थिक लाभ ले सकता है.


मोदी सरकार की आयुष्मान भारत योजना (एबीवाई) में समाज के कमजोर वर्ग को लोगों को हेल्थ इंश्योरेंस की सुविधा मिलती है. एबीवाई को प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना (पीएम जय) भी कहा जाता है. इसके तहत देश के 10 करोड़ परिवारों को सालाना 5 लाख रुपये का स्वास्थ्य बीमा मिल रहा है. क्या है आयुष्मान भारत योजना (एबीवाई) का लक्ष्य? प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने ‘प्रधानमंत्री जन आरोग्य’ योजना (आयुष्मान भारत योजना यानी एबीवाई) की घोषणा की है. इसे पंडित दीन दयाल उपाध्याय की जयंती पर 25 सितंबर से देशभर में लागू कर दिया गया है. सरकार एबीवाई के माध्यम से गरीब, उपेक्षित परिवार और शहरी गरीब लोगों के परिवारों को स्वास्थ्य बीमा उपलब्ध कराना चाहती है.सामाजिक-आर्थिक जाति जनगणना (एसईसीसी) 2011 के हिसाब से ग्रामीण इलाके के 8.03 करोड़ परिवार और शहरी इलाके के 2.33 करोड़ परिवार आयुष्मान भारत योजना (एबीवाई) के दायरे में आयेंगे. इस तरह पीएम जय के दायरे में 50 करोड़ लोग आएंगे.

 

ग्रामीण इलाके के लिए एबीवाई की योग्यता 

आयुष्मान भारत योजना (एबीवाई) में शामिल होने के लिए मोटे तौर पर ये योग्यता हैं: ग्रामीण इलाके में कच्चा मकान, परिवार में किसी व्यस्क (16-59 साल) का नहीं होना, परिवार की मुखिया महिला हो, परिवार में कोई दिव्यांग हो, अनुसूचित जाति/जनजाति से हों और भूमिहीन व्यक्ति/दिहाड़ी मजदूर इसके अलावा ग्रामीण इलाके के बेघर व्यक्ति, निराश्रित, दान या भीख मांगने वाले, आदिवासी और क़ानूनी रूप से मुक्त बंधुआ आदि खुद आयुष्मान भारत योजना (एबीवाई) में शामिल हो जायेंगे.




 

 शहरी इलाके के लिए एबीवाई की योग्यता

 आयुष्मान भारत योजना (एबीवाई) में शामिल होने के लिए मोटे तौर पर ये योग्यता हैं: भिखारी, कूड़ा बीनने वाले, घरेलू कामकाज करने वाले, रेहड़ी-पटरी दुकानदार, मोची, फेरी वाले, सड़क पर कामकाज करने वाले अन्य व्यक्ति. कंस्ट्रक्शन साईट पर काम करने वाले मजदूर, प्लंबर, राजमिस्त्री, मजदूर, पेंटर, वेल्डर, सिक्योरिटी गार्ड, कुली और भार ढोने वाले अन्य कामकाजी व्यक्ति स्वीपर, सफाई कर्मी, घरेलू काम करने वाले, हेंडीक्राफ्ट का काम करने वाले लोग, टेलर, ड्राईवर, रिक्शा चालक, दुकान पर काम करने वाले लोग आदि आयुष्मान भारत योजना (ABY) में शामिल होंगे.

 

कहां बनेगा आयुष्मान भारत योजना कार्ड

यह कार्ड आप अपने नजदीकी किसी भी रजिस्टर्ड सरकारी या प्राइवेट अस्पताल या कॉमन सर्विस सेंटर (CSC) जाकर बनवा सकते हैं। रजिस्टर्ड सरकारी या प्राइवेट अस्पताल की लिस्ट वेबसाइट pmjay.gov.in पर देख सकते हैं।

क्या आप आयुष्मान योजना (Ayushman Bharat Yojana) के लाभार्थी हैं या फिर पंजीकरण कराने की सोच रहे हैं तो केंद्र सरकार (Central Government) ने एक महत्वपूर्ण निर्णय में कहा है कि अब कोई भी व्यक्ति आयुष्मान भारत कार्ड बिल्कुल मुफ्त में प्राप्त कर सकता है. इससे पहले तक इसके लिए 30 रुपये चार्ज किया जा रहा था.




1 COMMENT

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here